Breaking News

गड्ढे के पानी में डूबने से भालू की मौत, रैबीज से पीड़ित होने की आशंका


पिथौरा:-पिथौरा वन परिक्षेत्र के जम्हर के जंगल में गड्ढे के पानी में डूबने से एक भालू की मौत हो गई। वन विभाग ने पोस्टमार्टम के बाद भालू के शव को जला दिया है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि भालू रेबीज का शिकार हो गया था। घटना शुक्रवार 12 अप्रैल की सुबह की है। बताया जा रहा कि यह वही भालू था, जो बुधवार की रात खेत की रखवाली करने जा रहे किसान चमार सिंह पर हमला कर दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई। 

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जम्हर बीट के कक्ष क्रमांक 242 में गोदगोदा (छोटे झरने से बना गड्ढा) में शुक्रवार 12 अप्रैल की सुबह 10 बजे एक भालू मृत अवस्था में मिला। गड्ढे में पूरे वर्ष भर पानी भरा रहता है। बुधवार की देर रात इस भालू के हमले से ग्राम जम्हर के किसान चमार सिंह ध्रुव की मौत हुई थी। लिहाजा वन विभाग भालू पर नजर रखा हुआ था। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि भालू रेबीज का शिकार हो गया था और विगत 24 घंटे से मानसिक संतुलन खो दिया था। भालू अजीबोगरीब हरकत करता था।

कभी वह पेड़ों को तो कभी पत्थरों को काटना प्रारंभ कर दिया था। वन परिक्षेत्र अधिकारी जेके गंडेचा ने बताया कि वन कर्मियों को उक्त भालू पर निगाह रखने लगाया गया था। उसकी गतिविधि संदिग्ध थी, जिससे अनुमान है कि भालू रेबीज का शिकार हो गया था।

रेबीज किन कारणों से हुआ था, इसके परीक्षण के लिए रायपुर से डॉक्टरों की टीम को बुलाया गया है। शव परीक्षण पश्चात एफएसएल रिपोर्ट आने के बाद ही वास्तविक कारणों का पता चल पाएगा। मृत भालू मादा है तथा उसकी उम्र करीब चार वर्ष है।

ब्यूरो चीफ महासमुन्द चंद्रशेखर प्रभाकर



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.