Breaking News

बाबरी विध्वंस की 26वीं बरसी, हाई अलर्ट पर अयोध्या


लखनऊ: अयोध्या विवादित ढांचे के विध्वंस की बरसी पर गुरुवार को सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रखने के निर्देश दिये गये हैं। इसके बाद बाहरी लोगों के अयोध्या में प्रवेश पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। वहीं, इस दौरान होने वाले परंपरागत आयोजनों के अलावा किसी नए आयोजन को करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

 

Image result for बाबरी विध्वंस की 26वीं बरसी, हाई अलर्ट पर अयोध्या

 

गौरतलब है कि 6 दिसंबर 1992 को हुई घटना को लेकर विहिप की ओर से शौर्य दिवस औऱ मुस्लिम संगठनों की ओर से योमे गम का आयोजन रस्मी तौर पर किया जाता रहा है, जिसके बाद पूर्व के अनुभवों के आधार पर 6 दिसंबर को अयोध्या के संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर रेड जोन में आने वाले अधिग्रहीत परिसरों की सुरक्षा बढा दी गयी है। हालांकि इन जोन में सामान्य दिनों में भी भारी संख्या में फोर्स मौजूद रहती है। बावजूद इसके एसएसपी की मांग पर और फोर्स उपलब्ध करवा दी गयी है। सुरक्षा इंतजाम चाक चौबन्द रखने की कड़ी में ही छह दिसंबर को आत्मदाह करने की धमकी देने वाले महंत परमहंस दास को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, हिंदू संगठन के पदाधिकारी कमलेश तिवारी भी गिरफ्तार किये जा चुके हैं। 

26वीं बरसी पर अयोध्या हाई अलर्ट पर 

 

 

संगीनों के साए में रहेगा अयोध्या। 
टेढ़ी बाज़ार चौराहे से शहर की तरफ चार पहिया वाहन प्रतिबंधित।
3 बजे कारसेवक पुरम में हिंदू संगठन मनाएंगे शौर्य दिवस।
मुस्लिम कौम मनायेगा यौमे गम।
हनुमानगढ़ी कनकभवन रामजन्मभूमि मार्ग पर पैदल ही जाने की छूट।

 

Image result for बाबरी विध्वंस की 26वीं बरसी, हाई अलर्ट पर अयोध्या

 

 



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.