Breaking News

बुलंदशहर: मामला पहले से ही था प्लैंड, यहां देखें सबूत...


उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के शक में हुई हिंसा के दिन वहां से मुश्किल से 100 मीटर दूर स्थित स्कूल में बच्चों को समय से पहले ही मिड-डे मील दे दिया गया था.
स्कूल के शिक्षक प्रभारी ने बताया कि बच्चों को जल्दी भोजन खिलाने और तुरंत घर भेज देने के आदेश मिले थे.

बुलंदशहर में गोकशी मामला

चिंगरावठी गांव में स्थित प्राथमिक और जूनियर माध्यमिक विद्यालय में तीन दिसम्बर को 150 से अधिक छात्रों को समय से पहले दोपहर 11 बजकर 15 मिनट पर मिड डे मील दे दिया गया था. इसी गांव में तीन दिसंबर के दिन 400 लोगों की भीड़ का पुलिस के साथ टकराव हुआ था. 

मुश्किल से 100 मीटर दूरी पर हो रहे तनाव के बारे में अनजान, यह उन बच्चों के लिए असामान्य था, जिन्हें आमतौर पर स्कूल में दोपहर 12.30 बजे भोजन दिया जाता था.
स्कूल में रसोइये और मिड डे मील परोसने वाले राजपाल सिंह ने कहा, ‘उस दिन, हमें भोजन जल्द बांटने और बच्चों को घर भेजने के आदेश मिले थे.' इस स्कूल में प्राथमिक कक्षाओं के 107 और जूनियर माध्यमिक के 66 बच्चें हैं.

स्कूल सुबह नौ बजे शुरू होकर दोपहर तीन बजे तक चलता है. प्राथमिक स्कूल के शिक्षक प्रभारी देशराज सिंह ने बताया, 'बच्चों को भोजन खिलाये जाने के बाद, उन्हें तुरंत घर भेज दिया गया.



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.