इलेक्ट्रानिक सिटी तक मेट्रो का व्यावसायिक संचालन मार्च तक...


सिटी सेंटर से इलेक्ट्रानिक सिटी तक मेट्रो का व्यावसायिक संचालन मार्च के अंत तक शुरू किया जा सकता है। इसके लिए जनवरी के अंत में इसका सिग्नलिंग परीक्षण शुरू किया जाएगा।

ट्रैक पर सिविल कार्य का निरीक्षण 28 दिसम्बर को किया गया था। निरीक्षण के दौरान सिविल कार्य को हरी झंडी दी गई थी। करीब दो महीने के ट्रायल के बाद 6.8 किलोमीटर लंबे रूट का सीएमआरएस द्वारा निरीक्षण किया जाएगा। 

जिसके बाद इसे व्यवसायिक संचालन की हरी झंडी दी जाएगी।डीएमआरसी जनवरी के अंत तक इस लिंक पर पूर्ण सिग्नलिंग परीक्षण शुरू करने के लिए तैयार कर रहा है। 

सिटी सेंटर से इलेक्ट्रानिक सिटी

यह लिंक पहले से ही संचालित द्वारका सेक्टर 21 से नोएडा सिटी सेंटर (लाइन 3) का विस्तार है, जिसे ब्लू लाइन भी कहा जाता है। डीएमआरसी के मुताबिक मार्च के अंत तक इस 6.8 किमी मेट्रो लिंक पर वाणिज्यिक परिचालन शुरू करने का लक्ष्य है। जैसा कि हमने प्रारंभिक परीक्षण रन सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। 

हम अगले 10 दिनों में पूर्ण सिग्नलिंग ट्रायल रन शुरू कर देंगे। यदि सब कुछ ठीक व योजना के अनुसार चला तो सिग्नलिंग परीक्षण जनवरी के अंत तक शुरू हो जाएगा। डीएमआरसी ने पूर्ण सिग्नलिंग ट्रायल रन के सफल समापन के बाद सुरक्षा मंजूरी के लिए सीएमआरएस को आमंत्रित करने की योजना बनाई है। ट्रायल रन के दौरान हम अलग-अलग गति से गाड़ियों की प्रतिक्रिया के साथ-साथ ब्रेकिंग का भी परीक्षण करेंगे। 

परीक्षण के दौरान संचालन नियंतण्रकेंद्र के साथ परस्पर संपर्क की भी निगरानी की जाएगी। प्रवक्ता ने कहा कि ट्रैक सिस्टम का व्यवहार और ओवरहेड इलेक्ट्रीफिकेशन को बार-बार जांचा जाएगा। बताते चले अगस्त, 2015 में इस परियोजना पर काम शुरू किया गया था। इस परियोजना के लिए 1.816 करोड़ का बजट था। इसे काम शुरू करने की तारीख से 36 महीने के भीतर तैयार किया जाना था।

अधिकारियों ने कहा कि इस लिंक से सेक्टर 35, 51, 34, 52 को फायदा होगा। साथ ही 71, 60, 59, 60, 61, 62 और 63, अन्य लोगों के अलावा गाजियाबाद के इंदिरापुरम को भी जोड़ देगा। लिंक में छह एलिवेटेड स्टेशन हैं जिनमें सेक्टर-34, 52, 59, 61, 62 और इलेक्ट्रॉनिक सिटी (गाजियाबाद सीमा) है।



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.