Breaking News

शिक्षा नीति के विरोध में सीएम आवास पर प्रदर्शन....


क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) के बैनर तले रविवार को प्रगतिशील संगठनों और सरकारी स्कूली बच्चों के साथ मुख्यमंत्री आवास पर सरकार की शिक्षा नीति के खिलाफ प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि दिल्ली सरकार स्कूली शिक्षा में सुधार लाने की बात कहती रही है लेकिन उसने अपनी नीतियों द्वारा शिक्षा में गैरबराबरी को बढ़ाया ही दिया है। 

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि गैर-बराबरी बढाने वाली क़दमों में सबसे बड़ा कदम पांच स्कूल ऑफ एक्सीलेंस खोलना जहां सबसे कुशल शिक्षक पढ़ाएंगे और सारी सुविधाएं मुहैया होंगी, जबकि दिल्ली के बहुसंख्यक छात्र घटिया स्थिति में पढ़ने को मजबूर रहेंगे। 

क्रांतिकारी युवा संगठन

संगठन के दिल्ली राज्य समिति सदस्य दिनेश कुमार ने कहा कि आप सरकार ने छात्रों को उनकी ‘‘योग्यता’ के आधार पर तीन हिस्सों में बांटने का एक कदम उठाया है। छात्रों को विास (फेल छात्रों के लिए), निष्ठा (जो फेल हो सकते हैं) और प्रतिभा (जो पढ़ने में अच्छे हैं) समूहों के आधार पर बांटा गया है।

छात्रों को न सिर्फ अलग-अलग समूहों में बांटा गया है बल्कि उन्हें अपनी योग्यता के अनुसार अलग-अलग पाठ्यक्रम भी पढ़ाया जाता है। यह नीति छात्रों के एक हिस्से को आगे बढाने की नीति है, जिसके तहत उन छात्रों को तो प्रोत्साहित किया जाएगा, जो पढने में अच्छे है, लेकिन जो छात्र कमजोर हैं उनको पढ़ाने का दायित्व त्याग कर आप सरकार उन्हें पढ़ाई छोड़ने या व्यवसायिक पढ़ाई करने को मजबूर करना चाहती है। 

इस मौके पर छात्रों ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा। 



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.