Breaking News

रघुपति किंही बहुत बढ़ाई तुम मम प्रिय भरत सम भाई


महोबा: बेलाताल/महोबा-श्री आदर्श रामलीला सांस्कृतिक समिति झंडा बाजार जैतपुर में दसवें दिन की लीला में प्रभु श्री राम ने  सुग्रीव हनुमान  विभीषण से पूछा कि बताएं किस तरह से लंका पर आक्रमण किया जाए विभीषण ने बताया कि प्रभु लंका की चार दरवाजे और चारों दरवाजों पर अपनी सेना को बांट दो तब आक्रमण करेंl

इसके बाद जब प्रभु राम ने देखा कि रावण ने अपने पुत्र मेघनाथ को युद्ध के लिए भेजा यह देख कर लक्ष्मण जी का क्रोध बढ़ गया तब उन्होंने प्रभु श्रीराम से आज्ञा लेकर युद्ध में जाने को कहा वहां पहुंचकर उन्होंने मेघनाथ को युद्ध की चुनौती दी लेकिन मायावी मेघनाथ ने अपनी भरपूर शक्ति का प्रयोग करते हुए लक्ष्मण पर ब्रह्म शक्ति का प्रयोग किया ब्रह्म शक्ति का आदर रखते हुए लक्ष्मण जी मूर्छित हो गए यह दृश्य देखकर दर्शक भाव विभोर हो गए फिर हनुमान ने लक्ष्मण जी को रामा दल पहुंचा कर प्रभु श्री राम को बताया कि लक्ष्मण जी को मेघनाथ द्वारा मारी गई.

ब्रह्म शक्ति से यह मूर्छित हो गए हैं लंका से सुसैन वैद को बुलाकर इनका उपचार कराया जाए तब हनुमान जी द्वारा लंका से सुषेण वैद्य को लाकर उपचार के लिए संजीवनी बूटी लेने को द्रोणागिरी पर्वत पर गए जहां पर उन्हें सभी बूटियों एक समान दिखाई दे रही थी देर ना करते हुए उन्होंने पूरे पर्वत को अपने हाथ पर उठाकर रामा दल पहुंचाया और लक्ष्मण जी का उपचार हो सका यह दृश्य देख कर सभी लोग प्रभु श्रीराम के जयकारों से पूरा ग्राउंड गूंज उठा इस मौके पर उपस्थित भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष जितेंद्र सिंह सेंगर दीपक गुरुदेव ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि डॉक्टर कौशल सोनी उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट के जिला अध्यक्ष महेंद्र द्विवेदी वरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मी गोस्वामी दीपू राठौर रमेश चंद्र मिश्रा नारायण नायक अखिलेश द्विवेदी राजू राठौर सुरेश राठौर शैलेंद्र सुल्लेरे सोनू गुप्ता.

अंत में समिति के अध्यक्ष इंद्रपाल रिछारिया द्वारा मुख्य अतिथि महोदय का आभार व्यक्त कर उन्हें अंग वस्त्र भेंट किया गया मुख्य अतिथि महोदय द्वारा अध्यक्ष  इंद्रपाल रिछारिया से कहा कि इस तरह के कार्य करना सराहनीय काम है और इस तरह का कार्य हर वर्ष होते रहने का आग्रह किया गया.

अंत में प्रभु राम की भूमिका अदा कर रहे सुरेंद्र पटेरिया और लक्ष्मण की भूमिका में अखिलेश द्विवेदी हनुमान की भूमिका में विजय कांत तिवारी कालनेमि की भूमिका में पुष्पेंद्र राजा मेघनाथ की भूमिका में परशुराम विश्वकर्मा रावण की भूमिका में सुशील अरजरिया सुषेण वैद्य की भूमिका में उमाशंकर विश्वकर्मा विभीषण की भूमिका में वीरेंद्र तिवारी आदि पात्र गण मौजूद रहे।

रिपोर्टर : संदीप कुमार 

 



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.