Breaking News

आतंकियों के पाकिस्तान से कनेक्शन दिल्ली के पांच भीड़भाड़ वाले स्थानों को चिन्हित कर करने वाले थ


राजधानी में हाई अलर्ट के दौरान मिलिट्री इंटेलीजेंस यूनिट (एमआईयू) की सूचना पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जैश-ए-मोहम्मद के दो कुख्यात आतंकियों को दबोच कर बड़ी कामयाबी हासिल तो की, लेकिन इस दौरान एक आतंकी के दिल्ली से हथियार व गोला-बारूद के साथ गिरफ्तार किए जाने के बाद सुरक्षा एजेंसियों के माथे पर बल पड़ गया है।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली को चाक चौबंद बनाने में जुटी सुरक्षा एजेंसियों के अब कान खड़े हो गए हैं। ऐसा इसलिए भी क्योंकि गिरफ्तार आतंकियों में से एक अब्दुल लतीफ गिनाई जम्मू-कश्मीर में ग्रेनेड हमलों का मास्टर माइंड बताया जा रहा है। पकड़े गए आतंकियों के पाकिस्तान से थे कनेक्शन।गिरफ्तार अब्दुल लतीफ गिनाई उर्फ उमर उर्फ दिलावर और अहमद भट जम्मू-कश्मीर के गांदरबल और बाटापोरा के रहने वाले हैं। 

गणतंत्र दिवस

अब्दुल लतीफ श्रीनगर में हाल के हुए ग्रेनेड हमलों का मास्टरमाइंड है और जैश का जम्मू में जिला कमांडर भी। इनके पास से बरामद जैश-ए-मोहम्मद के तीन कमांडरों के रबर स्टैम्प से पता चलता है कि तीनों के आका कश्मीर बैठकर यहां नेटवर्क के माध्यम से गणतंत्र दिवस पर बड़ी गतिविधि को अंजाम देने की ताक में थे। पुलिस सूत्रों की मानें तो इन दोनों ने पाकिस्तानी हैंडलर की मदद से करीब दर्जन भर से ज्यादा हैंडग्रेनेड आईडी हासिल की थी। 

आतंकियों का पाकिस्तान कनेक्शन : एमआईयू से मिली गुप्त सूचना के आधार पर लक्ष्मी नगर में किराए पर रहे आतंकी लतीफ अहमद गिनाई को 20 जनवरी की रात राजघाट के पास से दबोचा गया। पुलिस को उसके पास से हथियार और हैंडग्रेनेड के अलावा जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तान स्थित आंतकी ऑपरेशन कमांडर अबू मौज, जिला कमांडर तल्हा भाई और जिला कमांडर उमैर इब्राहिम के नाम पर जैश-ए-मोहम्मद के तीन रबर स्टैम्प भी बरामद हुए। पूछताछ के दौरान पता चला कि गिरफ्तार आतंकी का पाकिस्तान आतंकियों से कनेक्शन है, जिनके साथ मिलकर आरोपी दिल्ली को दहलाने की साजिश रच रहा था। हथियारों की सप्लाई पाकिस्तान से की गई थी : अब्दुल लतीफ गिनाई जम्मू-कश्मीर के गांदरबल में जैश-ए-मोहम्मद का जिला कमांडर है। 

जबकि जैश का अबू मौज उर्फ अबू बकर हैंडलर है। अबू मौज़ ने उन्हें पिछले साल नवंबर में आकिब नामक एक अन्य आतंकी के माध्यम से सात हैंड ग्रेनेड दिए थे। अबू मौज के निर्देश के अनुसार, वह लाल चौक गए जहां आकिब उनसे मिला था। आकिब दो दिनों तक लतीफ के घर रहा था। आकिब ने एक दर्जन से अधिक हैंड ग्रेनेड, एक पिस्टल और 30 जिंदा कारतूस लतीफ को दिए थे। 



Leave a Comment

Previous Comments

Loading.....

No Previous Comments found.