भारत में कोरोना वायरस के इस साल सबसे ज़्यादा मामले दर्ज, पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग

कोरोना महामारी की पहली मार से संभलने के बाद भारत एक बार फिर वायरस के सामने बेबस नज़र आ रहा है. देश में युद्ध स्तर पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है लेकिन हालात संभलने की बजाए बिगड़ते नज़र आ रहे हैं. सवाल उठता है कि आखिर कहां चूक हो रही है? इसके लिए हम आप ज़िम्मेदार हैं या प्रशासनिक लापरवाही? सरकार के सामने अब सरकार के सामने रास्ते क्या हैं? नए वैरिएंट्स को लेकर सरकार की रणनीति क्या है। इसी तरह  के कई  सवाल हमारे और आपके  मन  में  होगे  इसको  समझना  भी हमारी और आपकी  ज़िम्मेदारी  ....

भारत में कोरोना वायरस की रफ्तार हर दिन नए रिकॉर्ड बना रही है. बीते 24 घंटों में भारत में 93,249 नए मामले दर्ज हुए. साल 2021 में यह एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है. बीते 24 घंटों में 513 लोगों की मौत इस जानलेवा वायरस से हुई. भारत में फिलहाल 6,91,597 एक्टिव मामले हैं. वहीं कोरोना से कुल 1,64,623 लोगों की मौत हो चुकी है.

देश में कोरोना महामारी के हालात फिर से तेजी से बिगड़ रहे हैं। देश में कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए केंद्र सरकार हाई अलर्ट पर आ गई है। कोरोना की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए पीएम मोदी ने आज एक उच्च स्तरीय बैठक(High Level Meeting) बुलाई। इसमें देश में कोरोना की मौजूदा स्थिति पर चर्चा की गई है। इस बैठक में कोरोना से जुड़े मुद्दों और देश में चल रहे टीकाकरण की समीक्षा की गई है। इस हाई लेवल मीटिंग में कैबिनेट सचिव, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिव, डॉ विनोद पॉल सहित सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

बात करे Maharashtra कि कोरोना वायरस के मामले देश में एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं. Maharashtra में 24 घंटे में 49 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मरीज सामने आए.277 लोगों की गई जान. वहीं Maharashtra में मृत्यु दर 1.88 फीसदी पहंचा.

Capital Delhi में Corona के बढ़ते मामलों पर आपात बैठक के बाद Chief Minister Arvind Kejriwal ने बताया कि आज राजधानी में 3583 केस आएं है, Delhi के लिए ये चौथी लहर है। हालांकि उन्होंने साफ कहा कि फिलहाल सरकार Lockdown पर विचार नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि केस बहुत तेज़ी से बढ़ रहे है, लेकिन इस बार मौतें कम हैं।

वहीं देश के कई राज्यों में कोरोना के प्रसार पर लगाम लगाने के लिए लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू और धारा-144 जैसे कदम उठाए गए हैं। महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कई शहरों में लॉकडाउन लगाया गया है। जबकि पुणे, पंजाब, गुजरात, एमपी समेत कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। इसके साथ ही देश के कई अन्य राज्यों में सरकारों की ओर से धारा-144 जैसे कदम उठाए गए हैं।

 

Leave a Reply



comments

Loading.....
  • No Previous Comments found.