#Life_saved: कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद नहीं आया बुखार तो...ध्यान रखे इन बातो का

देश भर में कोरोनासंक्रमण का प्रकोप जारी है. विशेषज्ञ लगातार यह बता रहे हैं संक्रमण से बचाव का सबसे बड़ा अस्त्र वैक्सीसन है. ऐसे में अगर आपने अब तक वैक्सीtन नहीं लगाई है या लगवाने वाले हैं तो आपको बता दें कि कई लोग हैं जिन्हेंत वैक्सीेन लगवाने के बाद शरीर में कुछ लक्षण दिखाई पड़े हैं. उदाहरण के तौर पर, कई लोगों को पहली वैक्सीखन के डोज के बाद चक्क र आना या हल्का बुखार आदि महसूस हुआ जबकि ज्याददातर लोगों को बूस्टकर डोज के बाद ऐसा अनुभव करने को मिला. ऐसे में कई ऐसे लोग हैं जो साइड इफेक्ट्सह को देखकर घबराए और डॉक्टलर से संपर्क किया.

देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पहली लहर के मुकाबले काफी परेशान किया. जहां एक तरफ काफी ज्यादा संख्या में लोग संक्रमित हुए, तो वहीं इस दूसरी लहर ने काफी ज्यादा लोगों की जान भी ली. वहीं, पहली और दूसरी लहर के समय सिर्फ एक चीज अलग है और वो है कोरोना वैक्सीन.पहली लहर के समय पूरी दुनिया में वैक्सीन नहीं थी, लेकिन मौजूदा समय में लगभग हर देश के पास वैक्सीन उपलब्ध है. बात भारत की करें, तो यहां भी लोगों को वैक्सीन दी जा रही है और लोग भी इसमें काफी संख्या में भाग ले रहे हैं. वहीं, इसके साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिल रहे हैं. लेकिन ये साइड इफेक्ट्स सभी लोगों में नहीं दिख रहे हैं. ऐसे में लोगों के मन में ये सवाल घूम रहा है कि अगर कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद साइड इफेक्ट नहीं दिख रहे हैं, तो क्या ये असर नहीं करेगी..? तो चलिए इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं।

वैक्सीन लगवाना जरूरी

कोरोना वायरस से अगर बचना है, तो हर किसी को अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरुर लगवानी चाहिए। वैक्सीन लगवाना पूर्ण समाधान तो नहीं, लेकिन संक्रमण न फैले इसलिए ये जरूरी है। मौजूदा समय में जो कोरोना की वैक्सीन दी जा रही है, वो जोखिम कारकों, गंभीरता, अस्पताल में भर्ती होने की जररूत और मृत्यु दर को कम करने में प्रभावी साबित हुईं हैं।

वैक्सीन लगवाने के बाद दिख सकते हैं ये लक्षण:-

-बुखार आना
-सिरदर्द होना
-इंजेक्शन लगने वाली जगह पर दर्द होना
-कमजोरी व थकावट महसूस होना
-बदन दर्द होना आदि।

अगर साइड इफेक्ट्स न दिखें, तो...?

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद अगर किसी के शरीर में साइड इफेक्ट्स नहीं देखने को मिले, तो इसका ये मतलब बिल्कुल नहीं है कि उस शख्स के शरीर में वैक्सीन ठीक ढंग से काम नहीं कर रही है. डॉक्टर्स मानते हैं कि जिस व्यक्ति में साइड इफेक्ट्स दिखते हैं और जिस व्यक्ति में नहीं दिखते हैं. इन दोनों के ही शरीर में कोरोना वैक्सीन बराबर काम करती है.

विशेषज्ञों की मानें तो जब कोरोना वैक्सीन के परीक्षण के आंकड़ों को देखें, तो पता चलता है कि आधे से ज्यादा प्रतिभागियों को कोरोना वैक्सीन लेने के बाद कोई साइड इफेक्ट नहीं हुए, लेकिन वैक्सीन लेने के बाद वो भी 90 प्रतिशत से अधिक संरक्षित थे. इसका मतलब ये कि साइड इफेक्ट्स हों तो भी ठीक और न दिखें तो भी कोई दिक्कत नहीं। बस हर किसी को वैक्सीन जरूर लगवानी चाहिए।

 

Leave a Reply



comments

Loading.....
  • No Previous Comments found.