खतरनाक Monkey B Virus की एंट्री से फैली दहशत

कोरोना को लेकर दुनिया भर में फिर से डरावनी तस्वीर सामने आ रही है. पिछले सप्ताह के मुकाबले इस सप्ताह कोरोना संक्रमण की दर में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है जो तीसरी लहर की आहट है. पिछले नौ सप्ताह से विश्व में लगातार कोरोना के मामले कम होते दिख रहे थे. नए मामले में भारत, इंडोनेशिया और ब्रिटेन सबसे ज्यादा प्रभावित देश है. तीसरी लहर की संभावित खतरों के मद्देनजर कई देशों में पाबंदियों का एक और दौर शुरू हो रहा है. भारत को खास तौर से ऐसे हालात में सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि हम हर्ड इम्युनिटी तक नहीं पहुंच सके हैं. केंद्र सरकार ने कहा कि कोरोना की इस लहर को रोकने के लिए अगले 125 दिन काफी अहम हैं. सरकार इसके लिए वैक्सीनेशन पर जोर दे रही है. देश में अब तक 40 करोड़ लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है लेकिन संक्रमण पर लगाम लगती नहीं दिख रही.

तीसरी लहर को को लेकर हम आगे भी बात करेगे फ़िलहाल आइये नजर दाल लेते देश आये 24 घंटे के कोरोना आकड़ो पर .... 

पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना के नए मामले  38,164 
पिछले 24 घंटे में कोरोना से हुई नई  मौते  499 
कुल मौतों की संख्या 4,14,108
भारत में कोरोना के नए मामले   38,164 
कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 3,11,44,229  
पिछले 24 घंटे में कोरोना के कुल ठीक हुए मरीजो की संख्या 38,660  
कुल डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 3,03,08,456
देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 4,21,665
पिछले 24 घंटे में देश में हुआ वैक्सीनेशन 13,63,123
कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा पंहुचा  40,64,81,493

भारत में जहां दूसरी लहर से अभी राहत दिख रही है वहीं रोजाना 40 हजार के करीब नए मरीज अभी भी सामने आ रहे हैं और 500 के करीब मौतें हो रही हैं. लेकिन तीसरी लहर का खतरा अभी से आहट देने लगा है. ICMR के डिवीजन ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड कम्युनिकेबल डिजीज के प्रमुख डॉक्टर समीरन पांडा ने आशंका जाहिर की है कि अगस्त के अंत तक कोरोना वायरस की तीसरी लहर देश में आ सकती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में भी इस खतरे की ओर इशारा करते हुए कहा कि देश तीसरी लहर के मुहाने पर खड़ा है. पीएम मोदी ने कहा कि दूसरी लहर से पहले जनवरी-फरवरी में हम जिस हालात में थे आज फिर वहीं खड़े हैं और थोड़ी सी भी लापरवाही फिर भारी पड़ सकती है.

आइये उन राज्यों पर नजर डाल लेते है जिन राज्यों कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आये ... 

केरल- 13,956 
महाराष्ट्र- 9,000 
आंध्र प्रदेश- 2,974 
ओडिशा- 2,215 
तमिलनाडु- 2,079  

किन देशों में तीसरी लहर ने दे दी दस्तक?

भारत में अप्रैल की तबाही के पहले ब्रिटेन, फ्रांस, इटली जैसे यूरोपीय देशों में कोरोना के खतरे ने सर उठाया था और फिर भारत में जो तबाही हुई उसे पूरी दुनिया ने देखा. आज फिर इन देशों में लापरवाही और कोरोना के केस दोनों बढ़ रहे हैं. खासकर डेल्टा, डेल्टा प्लस, कप्पा और लैम्ब्डा जैसे कोरोना वैरिएंट्स ने खतरे को और बढ़ा दिया है. इंडोनेशिया-फिलीपींस, साउथ कोरिया जैसे कई देशों में हालात बहुत तेजी से बिगड़ रहे हैं. हाल के हफ्तों में कोरोना के केस बढ़ने के बीच वियतनाम, थाईलैंड और साउथ कोरिया जैसे देशों में लॉकडाउन और नए प्रतिबंध लगाने पड़े हैं.

वही अब चीन से एक बड़ी खबर सामने आई है ...जैसा की आप सब जनते है .... चीन के वुहान शहर से निकले कोरोना वायरस से दुनिया को अभी तक छुटकारा नहीं मिला है .....कि तब तक चीन में फिर से एक वायरस ने संक्रमण फैलाना शुरू कर दिया है. चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक चीन में बंदरों से संक्रमण फैल रहा है. इस वायरस को Monkey B Virus (BV) का नाम दिया गया है. चीन ने इस वायरस के फैलने की बात को कबूल भी कर लिया है. Monkey B Virus (BV) बंदर से निकला है. मिली जानकारी के मुताबिक ये वायरस बेहद घातक है. इससे संक्रमित लोगों में मृत्यु दर 70 से 80 प्रतिशत है. यानि, अगर 100 लोग इस वायरस की चपेट में आते हैं तो करीब 70 से 80 लोगों की मौत हो सकती है. इस लिहाज से कोरोना के बीच ही इस वायरस से निपटना चीन के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण हो सकता है. 

कोरोना संक्रमण की वजह से मथुरा के गोवर्धन में होने वाला पूर्णिमा मेला इस साल भी निरस्त कर दिया गया है. इसके अलावा प्रशासन ने गोवर्धन की सभी सीमाओं को सील रखने का फैसला भी लिया है. कोविड के कारण मथुरा प्रशासन ने गोवर्धन में लगने वाले मुड़िया पूनो मेला जिसे गुरु पूर्णिमा मेला और पूर्णिमा मेला भी कहा जाता है, को निरस्त करने का फैसला लिया है. पिछले साल भी कोरोना के चलते इस मेले को रद्द कर दिया गया था. सरकार इतने बड़े बड़े कदम उठा रही ताकि हमे कोरोना की तीसरी लहर का सामना न करना पड़े ... फिर बेपरवाह लोगो इन  दिनों में लॉकडाउन के नियमों में मिली ढील के बाद बाजारों भीड़ और बिन मास्क के घूमते नजर आ रहे है ... यही लापरवाही कोरोना की तीसरी लहर का कारण  बन सकती है ...तो आप सब जब जरुरी हो तभी घर से बहार निकले ,  ये 125 हम सब के लिए बहुत महत्वपूर्ण है तीसरी लहर को  रोकने के लिए .... दो गज की दुरी मास्क है  जरुरी का प्रयोग अवश्य करे .  

Leave a Reply



comments

Loading.....
  • No Previous Comments found.