उत्तर प्रदेश कांग्रेस में जान फूंकने में जुटीं प्रियंका गांधी

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियों ने कमर कसनी शुरू कर दी है। सभी पार्टीया अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए एक दुसरे पर तंज भी कसती नजर आने लगी है ..जहा  एक तरफ मोदी सरकार ने कल अपने संसदीय छेत्र का दौरा किया और विपक्ष पर जम कर निशाना भी साधा। वही  डेढ़ साल बाद आज  प्रियंका गांधी लखनऊ पहुची है ... तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचीं प्रियंका गांधी को लखनऊ पहुंचते ही जाम का सामना करना पड़ा। उनका काफिला हुसैनगंज में जाम में फंस गया। तत्काल सुरक्षाकर्मी हरकत में आए और खुद जाम खुलवाया।  लेकिन अब महासचिव प्रियंका गांधी अपनी पार्टी में जान फूंकने की पूरी कोशिश कर रही है। यूपी जिला पंचायत चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन भले ही उम्दा नहीं रहा हो लेकिन आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। आइये नजर डालते अन्य पार्टीयो पर कौन क्या दाव पचे खेलने को तैयार है ....

उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मिय तेज हो गई है ....विधानसभा चुनाव को जितने के लिए हर पार्टी ने आपने आपने दाव पंचे भी खेलने शुरू कर दिए है .... जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 महीने बाद गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे हैं। कहने को तो प्रधानमंत्री का वाराणसी दौरा सरकारी था  पर देखा जाए तो मोदी ने काशी विश्वनाथ के दर्शन के साथ ही UP में अपने चुनाव अभियान का आगाज भी कर दिया। 

UP में अगले साल चुनाव होने हैं। ऐसे में BJP विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करके जनता को लुभाने की कोशिशों में जुटी है। मोदी ने काशी में योगी सरकार की जमकर तारीफ की तो विपक्ष और पहले की सरकारों पर निशाना भी साधा।

वहीँ अब डेढ़ साल बाद प्रियंका गांधी लखनऊ  पहुच चुकी है ... आज से तीन दिन के लखनऊ दौरे पर हैं. प्रियंका गांधी का ये दौरा इसलिए भी अहम माना जा रहा है क्यो की 2022 विधानसभा चुनाव में ज़्यादा वक़्त नही है ,ऐसे में प्रियंका गांधी अपने इस दौरे से कांग्रेस के वोट बैंक को मजबूत करेंगी,  प्रियंका गांधी 17 जुलाई को महंगाई के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन करेंगी। कांग्रेस महंगाई, युवाओं के मुद्दों पर लगातार हमलावर रही है । 

वही सपा ने भी योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है तो बसपा में भी बैठकों का दौर शुरू हो गया है। सपा के मुखिया अखिलेश यादव के आदेश पर उनके कार्यकर्ता पूरे प्रदेश में तहसील स्तर पर प्रदर्शन करने जा रहे हैं। इसमें पंचायत चुनाव के दौरान अध्यक्ष और अन्य पदों पर धांधली, पुलिस बर्बरता के साथ महंगाई का मुद्दा रखा गया है।

बता दे , यूपी में विधानसभा चुनाव में करीब 6 महीने बाकी हैं। इन 6 माह में यूपी की सियासत को बदलने के लिए पीएम मोदी के लगातार दौरे हो सकते हैं। पार्टी के रणनीतिकारों ने तय किया है कि UP सरकार की बड़ी योजनाओं के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा जैसे नेताओं का बुलाया जाए। योगी सरकार सूबे में 4 बड़े एक्सप्रेस-वे बना रही है। इनमें से तीन पर तेजी से काम हो रहा है। कहा जा रहा है कि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री इनका उद्घाटन कर सकते हैं।

ऐसे में सवाल ये उठता है जहा मोदी सरकार योगी सरकार के सूबे में चार चाँद लगने में जुटी है ... वही विपाई पार्टिया modi सरकार पर निशाना साध रही है ... यूपी में जहा योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव के बीच जबरदस्त टक्कर देखने को मिल रही है ..वही देखना  ये होंगा की कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी किन किन मुद्दों को modi सरकार के खिलाफ हथियार बना कर जीत हासिल कर पायेगी . ये आने वाले वक्त में देखने को मिलेगा . 

 

Leave a Reply



comments

Loading.....
  • No Previous Comments found.