10 जून को है वट सावित्री व्रत,जानें पूजन विधि एवं शुभ मुहूर्त

वट सावित्री व्रत पूजन का विस्तार से वर्णन स्कंद पुराण और भविष्य पुराण में किया गया है। इन दोनों पुराणों मेंबताया गया हैकि ज्येष्ठ मास की अमवस्या तिथि के दिन सुहागन महिलाओं को अपने सुहाग की लंबी उम्र के लिए वट सावित्री का व्रत पूजन करना चाहिए तो आइए जानते है पूरी जानकारी ......

वट सावित्री व्रत की पूजन सामग्री

सौभाग्य प्राप्ति के लिए रखे जाने वाले वट सावित्री व्रत की पूजन सामग्री के लिए आपको सावित्री-सत्यवान की मूर्तियां, बांस का पंखा, लाल कलावा, धूप-दीप, घी, फल-फूल, रोली, सुहाग का सामान, पूरियां, वरगद का फल, सिन्दूर, जल से भरा कलश आदि की आवश्यकता होती है।

हिंदू धर्म में सुहागिन महिलाओं के लिए वट सावित्री व्रत बेहद ख़ास और महत्त्वपूर्ण होता है। इसे सुहागिन महिलायें अपने अखंड सौभाग्य के लिए रखती हैं। यह व्रत हर साल ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि के दिन रखा जाता है। धर्म वैज्ञानिक पंडित वैभव जय जोशी के अनुसार वट सावित्री व्रत अखंड सौभाग्य की कामना और संतान प्राप्ति की दृष्टि से बहुत ही शुभ फलदायी होता है। साल 2021 में वट सावित्री व्रत 10 जून को रखा जाएगा।

व्रत से पहले जान लें ग्रहण काल

वट सावित्री की पूजा का मुहूर्त हम आपको बताएंगे लेकिन उससे पहले आप इस दिन लगने जा रहे ग्रहण काल का समय जान लें. ग्रहण दोपहर 1 बजकर 42 मिनट से शुरू होगा और शाम 6 बजकर 41 मिनट तक रहेगा. लेकिन विशेष बात ये है कि ये सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देने वाला इसलिए यहां न तो सूतक काल मान्य होगा और न ही ग्रहण का कोई असर भारत में दिखेगा. यानी सभी शुभ कार्य उसी तरह किए जा सकेंगे जैसे अब तक होते आए हैं. व्रती महिलाओं को घबराने की कोई आवश्यक्ता नहीं है. 

राहुकाल में न करें पूजा

राहु काल में वैसे भी कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है. 10 जून को दोपहर 2 बजकर 30 मिनट से शाम 3 बजकर 47 मिनट तक राहुल काल है लिहाजा इस दौरान पूजा करने से बचना चाहिए. 

व्रत का है बहुत महत्व

वट सावित्री के व्रत का काफी महत्व होता है. ये व्रत करवा चौथ के व्रत के समान ही है. जिसमें पति के लिए पत्नियां निर्जल और भूखी प्यासी रहकर व्रत करती हैं. सोलह श्रृंगार करती हैं और खूब सजती संवरती हैं. इस दिन वट के वृक्ष की विशेष पूजा की जाती है.   

Leave a Reply



comments

Loading.....
  • No Previous Comments found.