विश्व युवा कौशल दिवस आज: जाने इस का महत्व

विश्व युवा कौशल दिवस के तौर पर आज का दिन मनाया जाता है. श्रीलंका के पहल पर साल 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने हर साल 15 जुलाई को विश्व युवा कौशल दिवस के तौर पर मनाये जाने का फैसला लिया.

 

 

आज के दिन को विश्व युवा कौशल दिवस के तौर पर मनाया जाता है. युवा समाज की रीड की हड्डी की तरह होते हैं. परिवार की जिम्मेदारी युवाओं पर होती है. पिछड़े हुए देशों और विकासशील देशों में तादाद में युवा बेरोजगार देखे गए हैं जो एक चिंता का विषय है. साथ ही बेरोजगारी के चलते वो अपनी क्षमता से कम स्किल वाले कार्य करते हैं. युवाओं की ये स्थिति को देखते हुए श्रीलंका ने पहल पर 11 नवंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने हर साल 15 जुलाई को विश्व युवा कौशल दिवस के तौर पर मनाये जाने का फैसला लिया. साल 2015 में ये पहली बार मनाया गया. दरअसल, इस दिन युवाओं के कौशल विकास में निवेश के महत्व में जागरूकता को बढ़ाने के उद्देश्य से मनाया जाता है.


साल 2015 से शुरू हुआ विश्व युवा कौशल दिवस


विश्व युवा कौशल दिवस की स्थापना 11 नवंबर 2014 में संयुक्त राष्ट्र यूएन महासभा द्वारा की गई थी, जिसके बाद इसकी शुरुआत पहली बार 15 जुलाई, 2015 से की गई थी. इस दिन को मनाने का खास प्रयोजन, युवा वर्ग की स्किल और उनके कामों को डेवलप करना है. जिससे युवाओं को स्वरोजगार के साथ आत्मनिर्भर बनाया जा सके.

 

कौशल विकास मिशन युवाओं को ट्रेनिंग और रोजगार दिलाने में करता है मदद


वही बात करे  अपने देश तो भारत युवाओं का देश है. आंकड़ों के मुताबिक, देश में करीब 46 कोरोड़ जनसंख्या युवाओं की है. देश में युवाओं के कौशल विकास के लिए शुरू किए गए कौशल विकास मिशन कोरोना के चलते बंद पड़ा है. खबरों के मुताबिक, कोरोना काल से पहले 3231 युवाओं को इस मिशन के जरिए ट्रेनिंग दिलाई गई और उसके बाद 2778 को रोजगार दिया गया. वहीं, अब ये मिशन फिर वापस कब शुरू होगा इसका कुछ पता नहीं. बता दें, कौशल विकास विभाग के तहत 14 से 35 साल के युवाओं को ट्रेनिंग और रोजगार दिलाया जाता है.

 

Leave a Reply



comments

Loading.....
  • No Previous Comments found.